Saturday, February 20, 2010

"ऊंचाई और हम"


हम जितना ऊँचा उठते जाते हैं निचे वालों को हम उतना छोटे दीखते हैं।

No comments:

Post a Comment

आपके विचारों का स्वागत है.....विल्कुल उसी रूप में कहें जो आप ने सोंचा बिना किसी लाग लपेट के. टिप्पणी के लिए बहुत आभार.